सम, ताली और खाली किसे कहते है ? sam taali aur khali ki paribhasha

सम, ताली और खाली किसे कहते है ? sam taali aur khali ki paribhasha. 



सम, ताली और खाली समझने से पहले हमको विभाग समझना पड़ेगा चलिए हम विभाग  को समझते है। 

विभाग -

            ताल को कुछ निश्चित मात्राओं में बांटना जिससे भरे एवं खाली जगहों का पता लगे उसे विभाग कहते हैं

उदाहरण के लिए  -  तीन ताल

                           16 मात्रा

                            4 विभाग 

 
ताल को ऐसे दर्शाते हैं.

तीन ताल - 16 मात्रा 


धा धिं  धिं धा|धा धिं  धिं  धा|धा धिं  धिं ता|ता धिं  धिं  धा
×                  2                  O                 3



| से हम विभाग को दर्शाते हैं. 
× से हम सम को दर्शाते हैं.
O  से खाली को दर्शाते हैं. 

सम, ताली और खाली किसे कहते है ?


सम, ताली और खाली ताल के विभाजन को दर्शाती है। किसी भी ताल को दो प्रकार से दिखाया जा सकता है – (१) तबला, पखावज या ढोलक पर बजा कर (२) हाथ के इशारों द्वारा दिखाकर।


सम - ताल को हाथ के इशारों द्वारा दिखाने के लिए हम ताली और खाली का प्रयोग करते हैं। प्रथम मात्रा पर पड़ने वाली ताली को सम कहते हैं।इस मात्रा से ताल ठेका प्रारम्भ होता है। 

ताली - सम के अतिरिक्त अन्य विभाग के प्रथम मात्रा पर जहा हाथ से ध्वनि उत्पन्न करते है उसे ताली अथवा भरी कहते है। 

खाली - इन सब के अतिरिक्त विभाग की प्रथम मात्रा पर जहाँ ध्वनि न करके केवल हाथ को हिला कर प्रदर्शित किया जाता है उसे खाली कहते है। 


🙏🙏PLEASE WATCH FOR SUPPORT🙏🙏



Please donate for Support🙏 :

musicalsday@okaxis
musicalsday@apl

 please help🙏(1रूपए 2रूपए 10रूपए jitta भी आप कर सकते हो please करो) 


एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ

please do not enter any spam link in the comment box.