ताल परिचय एवं बोल कहरवा, दादरा, रूपक, इत्यादि

ताल परिचय कुछ महत्वपूर्ण ताले
ताल दादरा, ताल कहरवा, ताल रूपक, तीनताल और झपताल आदि ,का सामान्य परिचय परिभाषा बोल ताली और खली



1. दादरा  -


 दादरा ताल 6 मात्रा की ताल होती हैं, 
 जिसमे 3-3 मात्रा के दो विभाग होते हैं 
1 पर ताली और 4 पर खाली गिना जाता हैं,

इसके बोल



धा  धी  ना  | धा  त  ना
    x               o             



2. रूपक ताल - 


रूपक ताल 7 मात्रा की ताल होती हैं, 
जिसमे 3 विभाग  पहले विभाग में 3 मात्रा तथा 2 व 3 विभाग में 2-2 मात्रा होती हैं,
1, 4 व 6 पर ताली 

इसके बोल - 

                ती  ती  ना  |  धी  ना  |  धी  ना | 
                                               X              2           3



3.  कहरवा ताल -  


यह ताल 8 मात्रा की ताल होती हैं,
 जिसमे 2 विभाग व प्रत्येक विभाग में 4-4 मात्राएँ होती हैं,
1 पर ताली व 5 पर खाली |

इसके बोल -

 

                 धा  गे  ना  ते  |  न  क  धिं  ~ |
                                                 X                 O




4. झपताल  -


 झपताल 10 मात्रा की ताल हैं,
जिसमे 4 विभाग होते हैं, पहला व तीसरा विभाग 2 - 2 मात्राओ का 
और
 दूसरा और चौथा विभाग 3 - 3  मात्राओ का
1,  3,  व  8 पर ताली तथा 6 पर खाली 


इसके बोल -



             धी ना  |  धी  धी  ना  |  ती  ना  | धी  धी  ना
   X           2               O            3



5. तीन ताल  -


तीन ताल 16 मात्रा की ताल होती हैं,
 जिसमे  4 विभाग  प्रत्येक विभाग 4 - 4  मात्राओ का होता हैं,
 1, 5, व 13 पर ताली तथा 9 पर खाली

इसके बोल - 


  
धा धिं धिं धा|धा धिं धिं  धा|धा धिं धिं ता|ता धिं धिं धा 


× से हम सम को दर्शाते हैं. 
O  से खाली को दर्शाते हैं. 




संगीत से सम्बंधित अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हैं तो कृपया comment box में बताये 
अन्य जानकारी के लिए follow करें 




Post a Comment

4 Comments

  1. ताली और खाली क्या होता है?

    ReplyDelete
    Replies
    1. This comment has been removed by the author.

      Delete
    2. aap hmare site pe visite kariye apko mil jayega.

      Delete

please do not enter any spam link in the comment box.