श्रुति किसे कहते हैं | 22 श्रुतिओ के नाम और परिभाषा | shruti ke naam


आईये हम आज श्रुति के बारे में चर्चा करते हैं 

श्रुति किसे कहते हैं | श्रुति की परिभाषा और श्रुति के नाम 




श्रुति - 

वह संगीतोपयोगी ध्वनि (नाद) जो स्पष्ट रूप से सुनाई दे और एक दूसरे से अलग तथा स्पष्ट पहचानी जा सके श्रुति कहलाती हैं |

कुछ अन्य परिभाषा  ----

वह नाद जिसे हम स्पष्ट रूप से सुन सके, समझ सके, व किन्ही दो नादो के बीच अंतर बता सके उसे हम श्रुति कहते है|



कुछ संगीत के विद्वानों के अनुसार एक सप्तक में अनेक नाद हो सकते हैं, किन्तु हम अधिक से अधिक 22 नाद का उपयोग कर सकते हैं, उनके अनुसार नाद की संख्या उतनी ही माननी चाहिए जिनको हम पहचान सके,  अंतर बता सके और आवश्यकतानुसार प्रयोग कर सके |"इन्ही 22 नाद को संगीत में श्रुति कहते हैं "



कुछ संगीत शास्त्रों में कहा गया हैं -

(श्रुयते इति श्रुतिः अर्थात श्रुति वह है जिसे हम सुन सके )
सुनने का अर्थ हम सुन कर उसे समझ सके 






संगीत में 22 श्रुति मानी गयी है 

जिनके नाम इस प्रकार हैं -

1. तीव्रा  

2. कुमुदनी 

3. मंदा 

4.चदोवाटि 

5.दयावती 

6. रंजनी 

7. रतिका 

8. रौद्री 

9. क्रोधा 

10.वज्त्रिका

11. प्रसारिणी 

12. प्रीती 

13. मार्चनि 

14. शीति 

15.रकता 

16.संदेपिनी 

17.आलापिनी 

18.मदन्ति 

19. रोहिणी 

20.राम्या 

21.उग्रा  

22. शोभिनी 









संगीत से सम्बंधित अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हैं तो कृपया comment box में बताये 


अन्य जानकारी के लिए follow करें 








Post a Comment

0 Comments