राग यमन सम्पूर्ण परिचय बंदिश, तान, और notations, सहित



राग यमन छोटा ख्याल, तान और अलाप सहित। 

राग यमन (कल्याण)

परिचय -

       इस राग की रचना अपने ही नाम वाले थाट अर्थात कल्याण से मानी गयी हैं
इस राग में तीव्र म (मध्यम) का प्रयोग किया जाता है
और 
 सभी स्वर शुद्ध प्रयोग किये जाते हैं.


ग (गंधार) वादी और नि (निषाद) संवादी मना गया हैं.
आरोह और अवरोह में सातों (7) स्वरों कर प्रयोग किया जाता हैं.  इसलिए यह सम्पूर्ण -सम्पूर्ण जाती का राग हैं.
गायन समय रात्रि का प्रथम प्रहर माना गया हैं.


~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~



आरोह - सा,  रे, ग,  म* प, ध,  नि,  सां |

अवरोह - सां,  नि, ध,  प,  म*,ग,  रे,  सा |

पकड़ -  •नि,  रे, ग, रे,  प,  रे, •नि,  रे, सा |


{* = तीव्र स्वर }
{• = मंद्र स्वर }




बंदिश तीनताल (मध्यालय)



[also read - raag durga parichay]

स्थायी =

_____________________________________________

नि  ध  प  ~| ~  रे  ~   सा | ग   रे   ग   ग | ~   ~  प   प |

ये   ~  री ~| ~ आ ~   ली | पि  या  बि   न | ~  ~  स  खी |

O            | 3               | ×                | 2

_____________________________________________

ग  म* ग  प |प  ध  प  प | निध नि  प  प | रे  रे  सा  सा |

क ल  ना  प |र  त  मो  हे | घ ~ री  प ल |छि  न  दि  न |

O            |  3           |  ×             | 2

_____________________________________________






अंतरा =

_____________________________________________

प  प  सां  सां | सां ~ सां  सां | सां ~  नि ध | नि ध  प  प |

ज  ब  से  पि  | या ~  प    र  | दे  ~  स  ग | व  न  की न्हो |

O                | 3                | ×              | 2

_____________________________________________

प  गं  रें  सां | नि  ध  प  प | ध  नि  ध  प | रे  रे  सा  सा |

र  ति यां क |  ट  त  मो  हे | ता  ~  ~  रे  | गि न  गि   न |

O             |   3             | ×               | 2              

_____________________________________________

ताने =

स्थायी तान - आठ मात्रा (8 beat)




निरे,  गरे,  निरे,  सा~  |  पम*,  गरे,  गरे,  सा~

गम*  पम* गम* पम*  |  गम*  पम*  गरे, सा~

निरे, गम*  पध,  मप,   |  गम*  पम*  गरे  सा~

निरे,  गम* धनी,  सां~ |  सांनि  धप,  म*ग  रेसा 

____________________________________________

अंतरा तान - आठ मात्रा




1. गम*  धनि,  सांनि,  धप,  |  गम* धनि,  सां~ निसां  |

2. सांनि, धप,  म*प,  गम*   |  ध~  नि~  सांध,  निसां |

_____________________________________________

संगीत से सम्बंधित अगर आपका कोई सवाल या सुझाव हैं तो कृपया comment box में बताये 
अन्य जानकारी के लिए follow करें 


Post a Comment

0 Comments